'वर्क फ्रॉम होम' के दौरान शरीर को कैसे बनाएं रिलैक्स और टेंशन फ्री

Fixed Menu (yes/no)

'वर्क फ्रॉम होम' के दौरान शरीर को कैसे बनाएं रिलैक्स और टेंशन फ्री

  • लोग घर में रहते हुए ऑफिस का काम निपटा रहे हैं। इसी को 'वर्क फ्रॉम होम' नाम दिया गया है।  
  • वर्क फ्रॉम होम सुनने में जितना आसान लगता है, उतना है नहीं! 
  • कार्य करने के सही ढंग को ना अपना कर शरीर में अन्य  बीमारियों/  दिक्कतों का शिकार बनते जा रहे हैं। 

Big Challenges Of Work From Home

लेखिका:  प्रेरणा शर्मा (Writer Prerna Sharma )
Published on 1 May 2021 (Last Update: 1 May 2021, 10:21 PM IST)

वर्क फ्रॉम होम का मतलब घर से कार्य करना जो आजकल बहुत ट्रेंड में है। कोविड-19 की दस्तक से लोगों की जीवन शैली के साथ-साथ कार्यशैली भी घर की चारदीवारी में ही कैद हो गई है। जहाँ पहले रोज सुबह लोग काम के सिलसिले में ऑफिस निकल जाया करते थे, वहीं अब कोरोना के डर से सभी ऑफिस बंद हैं और लोग घर में रहते हुए ऑफिस का काम निपटा रहे हैं। इसी को 'वर्क फ्रॉम होम' नाम दिया गया है।

वर्क फ्रॉम होम सुनने में जितना आसान लगता है, उतना है नहीं!

वर्क फ्रॉम होम से केवल ऑफिस आने जाने का समय, तैयार होने का समय ही बच पाया है, परंतु वर्क लोड पहले से अधिक और अपडेट हो गया है। किसी फिजिकल एक्टिविटी जैसे चलना, फिरना ना करके घर के किसी एक जगह  बैठकर लैपटॉप और कंप्यूटर पर काम करने के आदी हो गए हैं। देखा जाए तो हम शारीरिक रूप से ज्यादा मानसिक रूप से अधिक कार्य कर रहे हैं, जो कहीं न कहीं stress का कारण भी बनता जा रहा है।
वर्क फ्रॉम होम में हर कार्य ऑनलाइन मोड हो गया है। बड़े से बड़े बिजनेस से लेकर एकेडमिक और एजुकेशन की क्लासेस भी वन क्लिक प्रोसेस बन गई है। जो हमारे लिए कहीं आरामदायक है तो कहीं न कहीं शरीर के लिए नुकसानदायक भी बन रही है।
 
आर्टिकल पीडिया ऐप इंस्टाल करें व 'काम का कंटेंट ' पढ़ें

वर्क फ्रॉम होम से हमारी लाइफ स्टाइल में काफी परिवर्तन भी आए हैं।  कोरोना वायरस से बचने के लिए हमने हर कार्य को घर से करना तो शुरू किया, परंतु लोग कार्य करने के सही ढंग को ना अपना कर शरीर में अन्य  बीमारियों/  दिक्कतों का शिकार बनते जा रहे हैं। जैसे कि बैक प्रॉब्लम, वजन बढ़ना, शुगर की परेशानी, सिर दर्द और माइग्रेन हार्ट प्रॉब्लम, जोड़ों में दर्द आदि।
इन सभी दिक्कतों से बचने के लिए कुछ नियमों का पालन करना ही शरीर के लिए लाभदायक है; 
ऐसे में इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएँगे कि कैसे घर पर रहते हुए ऑफिस का काम निपटाएं जिससे कोई अन्य शारीरिक समस्या हमें ना घेर पाए। 


  1. सभी कार्यों में से सबसे महत्वपूर्ण कार्य है हर कार्य के लिए टाइम टेबल सेट करना। सही ढंग से फॉलो किया गया टाइम टेबल ना केवल हमारे कार्य को आसान बनाता है, बल्कि हमारी माइंड को रेस्ट एंड रिलीफ भी बनाता है।  रात्रि समय पर सोएं और प्रातःकाल समय पर उठकर अपने दैनिक कार्य को निपटा कर ऑफिस द्वारा दिए गए कार्य को ऑफिस के ही टाइम समय के अनुसार पूरा करें।  ऐसा करने से पेंडिंग वर्क होने से बचेंगे और आपका स्ट्रेस लेवल भी कम होगा। 
  2. शरीर को एक्टिव और तंदुरुस्त रखने के लिए घर पर ही एक्सरसाइज और योगासन का अभ्यास करें। इससे आपकी बॉडी फिट एंड फाइन रहेगी और वजन बढ़ने वाली शिकायत से भी बच सकते हैं।
  3. कार्य करते समय  एक ही स्थिति में काफी देर तक ना बैठे।  कुछ अंतराल के बाद अपने बैठने के पोस्टर को बदलते रहे  या संभव हो तो घर पर ही कुछ देर के लिए चलना फिरना शुरु कर दें। कार्य करने के लिए साफ सुथरी जगह और हवादार कमरे का ही चयन करें।
  4. भोजन में नियमित रूप से हेल्दी फूड को ही फॉलो करें। हरी सब्जियां, ताजे फल, सलाद, जूस, ग्रीन टी, ब्लैक टी, कॉफी और घर पर  बने भोजन को ही प्राथमिकता दें । जंक फूड, फास्ट फूड, सॉफ्ट ड्रिंकस,  तेलिया पदार्थ से परहेज रखें।  समय पर ब्रेकफास्ट और लंच को ही फॉलो करें। अधिक से अधिक पानी पिए।  ऐसा करने से आप डिहाइड्रेशन  का शिकार होने से बच सकते हैं।
  5. अपने घर के आस-पास के वातावरण की स्वच्छता और सफाई का  खासतौर पर ध्यान दें। समय-समय पर सैनिटाइजर का प्रयोग करें और कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव करते रहें। ऐसा करने से गंदगी में पलने वाले  कीटाणुओं से फैलने वाली बीमारियों से बच सकेंगे।


6. माइंड को स्ट्रेस फ्री करने के लिए मेडिटेशन करें। अच्छी किताबों को पढ़ें और संगीत सुनें। ऐसा करने से आपके दिमाग से नकारात्मक विचारों का नाश होगा।
7. घर के आस-पास बगिया या छत पर हरे भरे पौधे लगाए।  ऐसा करने से घर पर हरियाली बनी रहेगी और शरीर में सकारात्मक  ऊर्जा उत्पन्न होती है।
8. देर तक कंप्यूटर या लैपटॉप पर कार्य करने से हमारी आंखों में भारीपन या थकान महसूस होता है।  इससे बचने के लिए पर्याप्त नींद लें और कार्य करने के दौरान 5-10 मिनट का ब्रेक लेकर  बंद आंखों में ठंडे पानी के छींटे मारे। ऐसा करने से आंखों को आराम मिलता है।
9. पहनने के लिए हल्के और आरामदायक कपड़ों का ही चयन करें। इससे आपको उठने बैठने और कार्य करने में भी कंफर्ट महसूस होगा। 
10. नियमित रूप से  मास्क का प्रयोग करते रहे।


अस्वीकरण (Disclaimer): लेखों / विचारों के लिए लेखक स्वयं उत्तरदायी है. Article Pedia अपनी ओर से बेस्ट एडिटोरियल गाइडलाइन्स का पालन करता है. इसके बेहतरी के लिए आपके सुझावों का स्वागत है. हमें 99900 89080 पर अपने सुझाव व्हाट्सअप कर सकते हैं.
क्या आपको यह लेख पसंद आया ? अगर हां ! तो ऐसे ही यूनिक कंटेंट अपनी वेबसाइट / ऐप या दूसरे प्लेटफॉर्म हेतु तैयार करने के लिए हमसे संपर्क करें !


Article Pedia - #KaamKaContent (Associate with us)

** See, which Industries we are covering for Premium Content Solutions!

Web Title: Premium Unique Content Writing on Article Pedia




Post a comment

0 Comments