फिल्म, Web Series के स्क्रिप्ट राइटर कैसे बनें? - Screenplay Writing!

Fixed Menu (yes/no)

फिल्म, Web Series के स्क्रिप्ट राइटर कैसे बनें? - Screenplay Writing!

आर्टिकल पीडिया ऐप इंस्टाल करें व 'काम का कंटेंट ' पढ़ें
https://play.google.com/store/apps/details?id=in.articlepedia


फिल्मी दुनिया के व्यापक चमत्कारों से हम सभी परिचित हैं. कैसे एक फिल्म ना केवल कमाई के मामले में, बल्कि प्रभाव के मामले में भी दुनिया भर में अपने झंडे गाड़ देती है, यह हम सभी देख रहे हैं.

Film Script Writing Tips in Hindi

कुछ समय पहले तक फिल्में थिएटर में ही रिलीज होती थीं, किंतु जैसे-जैसे समय गुजरा है, वैसे-वैसे ओटीटी प्लेटफॉर्म्स (Script of OTT Platforms) ने धूम मचा दी है. अब फिल्में किसी प्लेटफार्म का मोहताज नहीं रही हैं, और अगर आपके कंटेंट में दम है तो उस पर फिल्म, वेब सीरीज और दूसरे तमाम आप्शन के साथ, कंज्यूम करने वाले बहुत लोग भी मौजूद हैं.


ध्यान रहे, मनोरंजन की दुनिया अब बहुत बड़ी दुनिया हो चुकी है और इसका दायरा दिन - प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है. अब सिर्फ स्क्रिप्ट राइटर केवल एक फिल्म ही नहीं लिखता है, बल्कि फिल्म के साथ-साथ कमर्शियल, विज्ञापन के लिए स्क्रिप्ट, रेडियो के लिए स्क्रिप्ट, शॉर्ट फिल्म, टीवी सीरियल, डिजिटल मीडिया इत्यादि के लिए बहुत सारे क्षेत्र उभर कर आए हैं. जाहिर तौर पर एक प्रोफेशनल फिल्म राइटर (Professional Film Script Writer) इन क्षेत्रों को कवर कर सकता है.

कई सारे लेखक एक से बढ़कर एक कहानियां लिखते हैं, किंतु यह एक कड़वा सच है कि उनकी कहानियां फिल्मी दुनिया तक नहीं पहुंच पाती हैं. 


इसके लिए वह क्या प्रयास करे, इसके लिए वह अपनी राइटिंग में कौन सा एंगल जोड़े कि फिल्म इंडस्ट्री के हिसाब से उनकी कहानी रिलेवेंट नजर आए, आइए जानते हैं...

क्या आपको फिल्में देखना पसंद है?

यूं यह प्रश्न बेमानी है, क्योंकि ऐसे बहुत कम लोग ही मिलेंगे, जिन्हें फिल्में देखना पसंद नहीं हो!वैसे अगर आपको ढेर सारी फिल्में देखना पसंद है, तो आप उसकी कहानी, लोकेशन, पात्रों की संरचना इत्यादि ठीक ढंग से समझ सकते हैं.


पर अगर आप फिल्म देखने में थोड़ा कम इंटरेस्ट लेते हैं, किंतु आप फिल्म राइटर बनना चाहते हैं, तो आप ढेर सारी फिल्में देखें और इससे यह होगा कि किरदारों की बुनावट आपको समझ में आती चली जाएगी. अगर इस क्षेत्र में आपका इंटरेस्ट बढ़ जाता है, तो उसके बाद जिस पर्टिकुलर इंडस्ट्री के लिए आप अपनी कहानी देना चाहते हैं, उस इंडस्ट्री की तमाम फिल्में देखें, उस लैंग्वेज की फिल्में देखें, बेशक वह अंग्रेजी फिल्में हो सकती हैं, वह हिंदी फिल्में यानी बॉलीवुड की हो सकती हैं, भोजपुरी फिल्म हो सकती है, पंजाबी - दक्षिण भारतीय फिल्में या फिर मराठी - गुजराती इत्यादि फिल्मों के लिए आप स्क्रिप्ट राइटिंग (Local Film Industry Script Writing) कर सकते हैं.

अब जिस भाषा की अथवा जिस जॉनर की स्क्रिप्ट आप लिखना चाहते हैं, उस भाषा की फिल्मों की स्क्रिप्ट ऑनलाइन पढ़िए.

बहुत सारी स्क्रिप्ट्स आपको फ्री मिल जाएंगी और जब आप कुछ स्क्रिप्ट पढेंगे, तब आप समझ पाएंगे कि एक साधारण राइटर और फिल्म के स्क्रिप्ट राइटर में क्या फर्क होता है!बेसिकली साधारण राइटिंग आप अपने नजरिए से लिखते हैं, जबकि स्क्रिप्ट राइटिंग में हर एक घटना हुबहू प्रेजेंट करनी पड़ती है, ताकि कहीं भी कनेक्शन न टूटे. लोग फिल्म या वेब सीरीज या फिर एडवर्टाइजमेंट, जो भी देखें या सुनें, तो उनको ऐसा लगना चाहिए कि उनकी आंखों के सामने वह घटना घट रही हो, बजाय इसके कि कोई उसको अपने सिंगल पॉइंट ऑफ़ व्यू से नैरेट कर रहा हो!

तात्पर्य यह है कि एक-एक लोकेशन, एक-एक संवाद बेहद सधे अंदाज में क्लियर होना चाहिए, जबकि सामान्य लेख या कहानी लेखन में आप इन चीजों को स्किप भी कर सकते हैं. लेकिन स्क्रिप्ट में आप पूरी डिटेल में जाते हैं और जब आप डेमो स्क्रिप्ट (Read Demo Film Script) पढ़ेंगे तो आपको आईडिया लग जाएगी कि वास्तव में यह क्या है!बल्कि जो फिल्म आप देख चुके हों, उसी की स्क्रिप्ट पढ़ें या ऑनलाइन जिस भी फिल्म की स्क्रिप्ट मिल जाए, उस फिल्म को देखें और आपस में दोनों को कम्पेयर करें, तब तत्काल आपको समझ आ जाएगी कि किस ओर आपको बढ़ना है.

बड़ा फलक रचें

जी हां! सामान्य राइटिंग आप एक सीमित दायरे में करते हैं, जबकि फिल्म स्क्रिप्ट या फिर वेब सीरीज या फिर एडवर्टाइजमेंट आपको एक बड़े दर्शक वर्ग के लिए बनानी पड़ती है. उसके लिए आप बहुत डिटेलिंग में जाते हैं और उसका क्या असर पड़ेगा, क्या इंपैक्ट होगा, लोग उसे देखकर क्या रिएक्शन करेंगे, यह तमाम बातें आपको ध्यान में रखनी पड़ती हैं.चूंकि आपकी कहानी के ऊपर लाखो-करोड़ों रूपये खर्च किया जाने वाला है, ऐसे में आप लापरवाही नहीं कर सकते हैं.


इसके लिए आपको बड़ा फलक रचने की क्षमता विकसित करनी जरूरी है. जब आप ऑब्जरवेशन करते हैं, जब आप भिन्न किताबें पढ़ते हैं, दूसरे करंट अफेयर्स की नॉलेज लेते हैं, तब आपकी सोचने-समझने की क्षमता विकसित होती है और किसी फिल्म या वेब सीरीज के तमाम पात्रों के किरदारों और घटनाओं को आप बखूबी संभाल सकते हैं, लेकिन बहुत जरूरी है कि आप प्रत्येक डिटेल में जाएँ और  गहराई से सोचें.

जब आप यह सब सोचना स्टार्ट करते हैं, तब आप स्क्रिप्ट लिखने के विभिन्न टेक्निकल टर्म्स (Technical Terms of Film Script Writing) को आसानी से समझने लगते हैं. इसमें स्क्रीनप्ले, डायलॉग, कैरक्टराइजेशन, प्लाट आईडिया, वन लाइनर, सिनॉप्सिस इत्यादि आसानी से समझने लगते हैं, और इस स्टेज पर जाकर आप आगे बढ़ने के लिए तैयार हो जाते हैं.


ध्यान रहे, जब स्क्रिप्ट लिखना शुरू कर देते हैं, तब आपको फिल्म राइटर्स एसोसिएशन / स्क्रीन राइटर एसोसिएशन (Screen Writers Association) में रजिस्ट्रेशन कर लेना चाहिए. swaindia.org पर जाकर आप आसानी से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं और मेंबर बनने के बाद आप इस दुनिया में ऑफिसियल एंट्री कर सकते हैं.

नेटवर्किंग जरूरी है ...



ध्यान दीजिए कि तमाम जानकारियों और योग्यता के बावजूद भी अगर आप बेहतरीन ढंग से नेटवर्किंग नहीं कर सकते हैं, तो आप इस सफर में शायद बहुत दूर तक ना जा पाएं. दूर तलक जाने की बात छोड़ भी दें, तो कईयों का सफ़र शुरू होने से पहले ही दम तोड़ देता है.ऐसे में बहुत जरूरी है कि आप नेटवर्किंग करें. तमाम राइटर्स, तमाम असिस्टेंट डायरेक्टर, डायरेक्टर इत्यादि के साथ अगर आप जुड़े रहते हैं, तो आप निश्चित रूप से इस सफर में खुद को प्रमोट कर सकेंगे. वैसे अब तमाम लोग सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए अपने फैन्स से जुड़ते ही हैं और इसमें से आप सावधानी से अपने लिए रास्ता निकाल सकते हैं.


ट्रेनिंग / अनलिमिटेड लर्निंग

वैसे फिल्म स्क्रिप्ट राइटिंग के लिए आप खुद से भी बहुत कुछ सीख सकते हैं. ऑनलाइन बहुत सारी चीजें मुफ्त अवेलेबल हैं, पर फिर भी अगर आप प्रोफेशनल ट्रेनिंग लेना चाहते हैं, तो फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट आफ इंडिया पुणे से आप इसकी ऑफिशियल ट्रेनिंग ले सकते हैं यहां से फिल्म राइटिंग में डिप्लोमा इत्यादि कोर्स करके अपनी आगे की यात्रा आप शुरू कर सकते हैं.

खास बात यह है कि आज के समय में कई सारे सॉफ्टवेयर भी इसके लिए इस्तेमाल किए जाने लगे हैं, जिसमें फाइनल ड्राफ्ट (Final Draft) ट्रेल बाय (Trelby) राइटर डुएट (Writer Duet) इत्यादि यूज होते हैं, जिसमें स्टैण्डर्ड तरीके से आप अपने काम को दर्शा सकते हैं. साथ ही एक स्क्रिप्ट पर कई-कई लोग साथ में काम कर सकते हैं.
बहरहाल, Film Script Writing की शुरूआती जानकारी से सम्बंधित अगर आपके पास और कोई प्रश्न है, तो आप जरूर पूछें. कमेंट बॉक्स आपके लिए खुला है.साथ ही अगर आप के पास कोई ओरिजिनल कहानी है, लेख है तो आर्टिकल पीडिया को भेजें. इस प्लेटफ़ॉर्म पर आपकी कहानी हजारों रीडर और सैकड़ों Film Industry Professionals तक पहुँच सकती है. 

धन्यवाद सहित,

- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




क्या आपको यह लेख पसंद आया ? अगर हां ! तो ऐसे ही यूनिक कंटेंट अपनी वेबसाइट / ऐप या दूसरे प्लेटफॉर्म हेतु तैयार करने के लिए हमसे संपर्क करें !
** See, which Industries we are covering for Premium Content Solutions!

Web Title: Premium Hindi Content on...






Post a comment

0 Comments