पुरानी गाड़ी खरीदने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

हर किसी का सपना होता है कि उसके पास अपनी सवारी हो, बेशक वह चार पहिया हो या फिर दोपहिया ही क्यों न हो!

हालाँकि, कभी-कभी परिस्थितियां ऐसी नहीं बन पाती हैं कि हम नई गाड़ी खरीद पाएं। वैसे अगर गाड़ी अच्छी कंडीशन में है तो सेकंड हैंड गाड़ी खरीदने में कोई बुराई नहीं है। लेकिन अगर आप पुरानी गाड़ी खरीद रहे हैं तो सुरक्षा से सम्बंधित कुछ बेहद महत्वपूर्ण बातों पर ध्यान देने की आवश्यकता है।

 Purchasing Old Vehicle (Pic: theculturetrip)

पेपर की जांच कर लें

अगर आप पुरानी गाड़ी खरीदने जा रहे हैं तो सबसे पहले आप यह जानने की कोशिश करें कि जो व्यक्ति आपको गाड़ी बेच रहा है उसके पास गाड़ी से सम्बंधित सारे पेपर मौजूद हैं या नहीं!
अगर उसके पास सभी डॉक्युमेंट्स मौजूद हैं तो आप उससे सबसे पहले गाड़ी की आरसी (RC - Registration Certificate) मांगिये। अगर आपको आरसी (RC) प्राप्त हो गई है तो आप गाड़ी के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट और गाड़ी की डिटेल दोनों को आपस में मिला लें।

यह भी ध्यान देने वाली बात है कि आपको जो गाड़ी बेची जा रही है वह गाड़ी उसी व्यक्ति की है या नहीं! यह जानने के लिए आरसी के ऊपर लिखे बॉडी नंबर को गाड़ी के इंजन पर अंकित नबर से मैच कराएं। बता दें कि आरसी में उसी व्यक्ति का नाम रजिस्टर रहता है जिसके नाम पर यह गाड़ी है।

वहीं एक और बात पता करें कि कहीं गाड़ी पर लोन तो नहीं लिया गया है और लिया गया है तो क्या उसे चुकता कर दिया गया है!

बीमा पालिसी का पता कर लें

जब भी किसी गाड़ी की बीमा पॉलिसी कराई जाती है तो उस गाड़ी का वहां के स्थानीय आरटीओ (RTO) ऑफिस में रजिस्ट्रेशन भी होता है। अगर पुरानी बाइक खरीद रहे हैं तो बाइक के मालिक से गाड़ी से संबंधित बीमा पॉलिसी लेना ना भूलें। अगर गाड़ी का बीमा हुआ है तो आपका रजिस्ट्रेशन आसानी से चेंज हो जायेगा।

यह बेहद महत्वपूर्ण पॉइंट है, क्योंकि कई राज्यों में थर्ड-पार्टी बीमा अनिवार्य हो गया है।

पीयूसी की मांग करें 

चाहे गाड़ी नई हो या पुरानी सभी गाड़ियों का 'पीयूसी' होना अनिवार्य रहता है। अगर गाड़ी नई है तो 6 महीने के बाद उस गाड़ी का 'प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र' बनाना अनिवार्य है। अगर आप पुरानी गाड़ी खरीद रहे हैं तो गाड़ी के मालिक से पीयूसी यानि कि प्रदूषण नियंत्रित पर सर्टिफिकेट लेना नहीं भूलें।

सुरक्षा-संबंधी कदम

जब भी आप किसी से पुरानी गाड़ी  खरीदें तो उस व्यक्ति का दो पासपोर्ट साइज का फोटो और उसके पिछले पते-रिकॉर्ड की मांग अवश्य करें। इस बात का फायदा यह होगा कि आपके साथ कोई विवाद होता है तो आसानी से आप पुलिस में जा कर यह बात बता सकें कि आपसे पहले यह बाइक किसके पास थी।

अन्य सावधानियां

आप पुरानी गाड़ी खरीद रहे हैं तो बाइक के मालिक से रोड टैक्स कार्ड की मांग भी करें क्योंकि रजिस्ट्रेशन ट्रांसफर कराने के लिए इसे आरटीओ के ऑफिस में जमा करना पड़ता है। अगर आप इस गाड़ी को किसी अन्य राज्य में ले जाना चाहते हैं तो उस व्यक्ति से फॉर्म संख्या 28 की भी मांग करें।

इस फॉर्म में अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC) रहती है। इसकी तीन कॉपी आपके पास रहनी चाहिए।

पुरानी गाड़ी खरीदने वाले लोगों को इन सावधानियों का ध्यान रखना अवश्य ही चाहिए। आपको इस टॉपिक से सम्बंधित कोई अन्य जानकारी चाहिए तो कमेन्ट-सेक्शन में अपने विचार ज़रूर बताएं।

क्या आपको यह लेख पसंद आया ? अगर हां ! तो ऐसे ही यूनिक कंटेंट अपनी वेबसाइट / डिजिटल प्लेटफॉर्म हेतु तैयार करने के लिए हमसे संपर्क करें !

** See, which Industries we are covering for Premium Content Solutions!

Web Title:  Purchasing Old Vehicle, Important Points to be remembered, Article In Hindi

WordPress.com

Post a comment

0 Comments