गणेश जी 'संवारें' घर के बिगड़े वास्तु को!

Fixed Menu (yes/no)

गणेश जी 'संवारें' घर के बिगड़े वास्तु को!

Vastu Tips To Place Ganesha Idol


भगवान गणेश को ऐसे ही संकटहर्ता, विघ्नहर्ता और मंगलकर्ता नहीं कहा जाता है। देवताओं में प्रथम पूजनीय भगवान गणेश की पूजा मात्र से ही मनुष्य के सारे कष्ट दूर होने लगते हैं। इसके साथ ही वास्तुशास्त्र में भगवान को बहुत शक्तिशाली माना गया है और वास्तु के दोषों के निवारण के लिए।  अगर आपने अपना नया घर बनाया है और आपको लगता है कि आप के बने हुए भवन में वास्तु-दोष है, तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। वास्तु शास्त्र में भगवान गणेश की प्रतिमा से कई सारे वास्तु-दोष निवारण की विधियां बताई गई हैं। आप इन विधियों को अपना कर अपने घर में मौजूद वास्तु दोष से मुक्ति पा सकते हैं।  

नए घर में आगमन 
अगर आप अपने नए बने हुए घर में रहने के लिए जा रहे हैं तो गृह प्रवेश के पूर्व ही घर की लॉबी में पूर्व दिशा की दीवार पर भगवान गणेश की 6 इंच की प्रतिमा लगाएं। वास्तु-शास्त्र कहता है इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है और इस घर में रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य और उर्जा में कोई कमी नहीं आती है।

'बंदनवार' सजाना  
घर के मुख्य द्वार पर लोग अक्सर खूबसूरती के लिए बंदनवार लगाते हैं लेकिन आपको लगता है कि आप के भवन में नकारात्मक ऊर्जा ज्यादा है और सुख-समृद्धि में कमी हो रही है तो आप अपने मुख्य द्वार पर भगवान गणेश का बंदनवार लगाकर सकारात्मक ऊर्जा पा सकते हैं। 
Vastu Tips To Place Ganesha Idol



व्यवसाय के घाटे को फायदे में बदलें 
अगर आपको बिजनेस में पिछले कुछ दिनों से लगातार घाटा हो रहा है तो आप इसका निवारण  भगवान गणेश की प्रतिमा से कर सकते हैं। इसके लिए आप गणेश जी के प्रतिरूप 'स्वास्तिक' को ताम्र-पत्र में या फिर पूजा की थाली में स्थापित करने और नियमित रूप से इसकी पूजा करें। देखते - देखते आपके गिरे हुए व्यवसाय में वृद्धि आएगी और आप उन्नति करेंगे।

सूने घर में रहने जा रहे हैं तो! 
 वास्तु-शास्त्र के अनुसार लंबे समय से बंद पड़े घर में रहने से नकारात्मक शक्तियां उसमें हावी हो जाती हैं। ऐसे में इस घर में रहने से पहले आपको कुछ वास्तु के उपाय कर लेना चाहिए। ऐसे घर के प्रवेश - द्वार के ठीक सामने मुख्य द्वार की तरफ मुंह की हुई गणेश जी की 9 इंच की लंबी प्रतिमा को स्थापित करना चाहिए। इससे बंद पड़े घर की नकारात्मक शक्तिया दूर होती हैं और घर में सकारात्मक ऊर्जा बरकरार रहती है।



घर का मुख्यद्वार दक्षिण दिशा में हो तो!
ना चाहते हुए भी कई बार हमें अपने घर मुख दक्षिण दिशा में बनाना पड़ता है।  ऐसे में घर में सुख -शांति बने रहे इसके लिए आपको भगवान गणेश की ऐसी प्रतिमा अपने मुख्य द्वार पर लगानी चाहिए जो ना ही अधिक बड़ी हो और ना ही अधिक छोटी ही हो! इसके साथ ही उस दीवार की उल्टी साइड भी एक गणेश भगवान की प्रतिमा स्थापित करनी चाहिए और दोनों ही प्रतिमाओं की पीठ आपस में जुड़ी हुई होनी चाहिए। ऐसा करने से दक्षिण मुखी भवन की जो नकारात्मक शक्तियां होती हैं, वह कम हो जाती हैं।




क्या आपको यह लेख पसंद आया ? अगर हां ! तो ऐसे ही यूनिक कंटेंट अपनी वेबसाइट / डिजिटल प्लेटफॉर्म हेतु तैयार करने के लिए हमसे संपर्क करें !

** See, which Industries we are covering for Premium Content Solutions!

Web Title: Premium Hindi Content on...

Post a comment

0 Comments