Fixed Menu (yes/no)

25 दिसंबर को ही क्यों मनाते हैं 'यीशू' का जन्मदिन और क्यों सजाते हैं पेड़?

Christmas History



25 दिसंबर ईसाई समुदाय के लिए बड़ा ही विशेष दिन माना जाता है, क्योंकि आज के दिन ईसाई समुदाय अपने इष्ट 'ईसा मसीह' के जन्मदिन का उत्सव मनाता है। देखा जाए तो ईसाई समुदाय ही क्यों लगभग पूरा विश्व आज के दिन ईसा मसीह को याद करता है और इस दिन को सेलिब्रेट करता है। लगभग सभी देशों में आज के दिन अवकाश रहता है। हालाँकि ईसा मसीह के जन्मदिन को लेकर कई सारे मतभेद माने जाते हैं, कहा जाता है कि तीसरी शताब्दी में ईसा मसीह का जन्मदिन अन्य तारीखों पर मनाया जाता था लेकिन चौथी शताब्दी आते आते अधिकारिक तौर पर 25 दिसंबर को ईसा मसीह का जन्मदिन घोषित कर दिया गया। 

ईशा मसीह के जन्मदिन के भ्रम के पीछे सबसे बड़ा कारण यह था कि ईसाइयों के धर्म ग्रंथ "बाइबिल "में कहीं भी इस बात का जिक्र नहीं है कि ईसा मसीह का जन्म 25 दिसंबर को हुआ था। 25 दिसंबर को ईसा मसीह के जन्मदिन घोषित करने के पीछे एक बड़ा कारण रहा कि यूरोप में 25 दिसंबर को पहले से ही विशेष दिन के रूप में मनाया जाता था क्योंकि यूरोपियों का मानना था कि 25 दिसंबर को दिन सबसे बड़ा होता है और आज ही के दिन सूर्य का पुनर्जन्म के तौर पर लोग इस दिन को मनाते हैं। इसीलिए सर्वसम्मति से ईसाई समुदाय ने 25 दिसंबर को ईशा मसीह के जन्मदिन के रूप में घोषित कर दिया।  25 दिसंबर को ईसा मसीह के जन्मदिन मनाने के पीछे एक और कहानी बताई जाती है जिसके अनुसार 25 मार्च को ईसा मसीह कि माता 'मेरी' ने इस बात की सूचना दी थी कि वह एक दिव्य और अलौकिक बच्चे को जन्म देने वाली हैं, इसके अनुसार 25 मार्च के 9 महीने बाद यानी कि 25 दिसंबर को ईसा मसीह का जन्मदिन मनाना प्रचलन में आ गया। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ईसा मसीह की मृत्यु 25 मार्च को ही हुई थी।  

Christmas History



क्रिसमस के दिन क्यों सजाते हैं पेड़?
क्रिसमस के दिन ईसा मसीह का जन्मदिन है यह तो सभी जानते है लेकिन आज के दिन पेड़ क्यों सजाते हैं यह शायद कम ही लोग जानते होंगे। 25 दिसंबर को क्रिसमस ट्री सजाने के पीछे कई सारे तर्क दिए जाते हैं लेकिन कहा जाता है कि जब ईसा मसीह का जन्म हुआ था तब देवताओं ने अपनी खुशी प्रकट करने के लिए एक पेड़ को फल, फूल और रोशनी से सजाया था। तबसे ईसा मसीह के जन्मदिन पर देवदार के पेड़ को अपनी सुविधानुसार सजाकर खुशी व्यक्त करने की परंपरा चली आ रही है। 




क्या आपको यह लेख पसंद आया ? अगर हां ! तो ऐसे ही यूनिक कंटेंट अपनी वेबसाइट / डिजिटल प्लेटफॉर्म हेतु तैयार करने के लिए हमसे संपर्क करें !

** See, which Industries we are covering for Premium Content Solutions!

Web Title: Premium Hindi Content on...Christmas History

Post a comment

0 Comments