विदेश में पढ़ने अथवा जॉब के लिए जरुरी है IELTS क्वालीफाई करना, जानें डिटेल्स!

Fixed Menu (yes/no)

विदेश में पढ़ने अथवा जॉब के लिए जरुरी है IELTS क्वालीफाई करना, जानें डिटेल्स!

हम सभी जानते ही हैं कि अगर किसी को विदेश में पढ़ना है, अथवा जॉब करना है, तो सबसे पहले आपके पास पासपोर्ट व वीजा होना आवश्यक है। 

पर आश्चर्य का विषय यह है कि कम लोग ही यह जानते होंगे कि विदेशों में रहने या पढ़ने के लिए पासपोर्ट - वीजा के साथ ही आप को आईईएलटीएस एग्जाम (IELTS Exam for study in foreign) भी पास करना बेहद जरुरी है।

आर्टिकल पीडिया ऐप इंस्टाल करें व 'काम का कंटेंट ' पढ़ें

जी हाँ! IELTS Exam ही वह टेस्ट है, जिसमें आपकी इंग्लिश लैंग्वेज बारीकी से टेस्ट की जाती है। इस एक्जाम के माध्यम से यह देखा जाता है कि आप इंग्लिश बोलने, पढ़ने, सुनने, लिखने एवं उसे समझने की क्षमता रखते हैं या नहीं।

ऐसे में जानना ज़रूरी हो जाता है कि कैसे IELTS परीक्षा की तैयारी करनी चाहिए!

'इंटरनेशनल इंग्लिश लैंग्वेज टेस्टिंग सिस्टम' यानि IELTS (आईईएलटीएस) क्वालीफाई करना न केवल आवश्यक है, बल्कि इसे आप अनिवार्य ही मानें!

तो यदि आप ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, आयरलैंड, न्यूजीलैंड, यूके या फिर यूनाइटेड स्टेट्स (Study in USA, foreign countries) में जाने का सपना देखते हैं तो,आईईएलटीएस परीक्षा आपको दो फॉर्मेट में देना पड़ेगा।
इसमें जिसमें पहला एकेडमिक परीक्षा है, तो दूसरा जनरल ट्रेनिंग परीक्षा होती है।
Academic and General Training Exam for IELTS Tests!

How To Clear IELTS Exam?


उच्च शिक्षा के लिए आपको एकेडमिक एक्जाम की तैयारी करनी चाहिए, वहीं जो फॉरेन जाकर जॉब करना चाहते हैं, अथवा वहां रहना चाहते हैं, फिर उन्हें जनरल ट्रेनिंग के लिए तैयारी करना होगा।
ज़ाहिर तौर पर दोनों अपने फॉर्मेट में आपकी डेडिकेशन के बिना संभव नहीं है।

Exam Format and How to Apply?
एक्जाम फॉर्मेट जानें और अप्लाई करने की विधि भी!

स्पीकिंग, रीडिंग, राइटिंग और लिसनिंग टेस्ट मिला कर आईईएलटीएस परीक्षा में मुख्यतः 4 भाग होते हैं। यूं यह एक्जाम देश में कई बार और कई जगहों पर आयोजित की जाती है। 
आइये जानते हैं, बारीकी से इसके बारे में...


जैसा कि नाम से क्लियर है कि यह टेस्ट अंग्रेजी सुनने की आपकी क्षमता का परीक्षण है। इसके लिए आपको तकरीबन आधे घंटे का समय मिलता है। इस तरह से इस टेस्ट में 4 नैटिव इंग्लिश रिकॉर्डिंग (Native English Recording) आपको सुनाई जाएगी, और इस रिकार्डिंग के बेस पर आपसे तकरीबन 40 क्वेश्चन पूछे जायेंगे। 

ऐसी स्थिति में बेहतर यह होता है कि रिकार्डिंग सुनने से पहले प्रश्नों को पढ़ लें, ताकि प्रश्नों के जवाब देने में आसानी रहे।
पर सबसे आवश्यक है ध्यान से सुनना, क्योंकि ध्यानपूर्वक सुनने की आदत अगर आपको है तो फिर IELTS Listening Test में कोई ख़ास मुश्किल नहीं आएगी। इसके लिए आप इंग्लिश न्यूज चैनल्स एवं यूट्यूब चैनल्स का सहारा ले सकते हैं और अपनी Listening Skill बेहतर कर सकते हैं।

2. राइटिंग टेस्ट (Writing Test for IELTS Exam)

इस कड़ी में अगला नंबर राइटिंग टेस्ट का आता है, जिसके लिए आपके पास 1 घंटे का समय होता है। 

इस एग्जाम में 2 सेक्शन होते हैं। इसके पहले भाग में आपके सामने चार्ट, डायग्राम अथवा टेबल दिखाए जायेंगे, जिनके बारे में आपको वर्णन करना होगा। 

दूसरे सेक्शन में आपको एस्से (Essay Writing for IELTS Exam) लिखना होता है, जिसके लिए आपको टॉपिक दिए जायेंगे।

अतः इसकी तैयारी करने के लिए आपको पहले से अलग - अलग टॉपिक पर लिखने की प्रैक्टिस करनी होगी। ध्यान रखें कि आपको प्रश्न में पूछे गए शब्दों का प्रयोग नहीं करना है, क्योंकि वर्ड काउंट में उनकी गिनती नहीं होती है।

मतलब यहाँ इंडियन जुगाड़ नहीं चलने वाला है!

3. रीडिंग टेस्ट (Reading Test for IELTS Exam)

सोशल सर्वाइवल, वर्कप्लेस सर्वाइवल एवं जनरल रीडिंग के सेक्शन को मिलाकर रीडिंग टेस्ट लिया जाता है एवं  इसके लिए आपको 1 घंटे का टाइम दिया जाता है। इस दौरान आपको पैराग्राफ रीडिंग के लिए दिए जाते हैं, व इसी के आधार पर आप से प्रश्न पूछे जाते हैं। 

इस परीक्षा को पास करने के लिए आपको प्रश्नों के वास्तविक अर्थ (भावार्थ) पर ध्यान देना होगा, न कि शाब्दिक अर्थों पर।
तो वास्तव में आपको अंग्रेजी, किसी अंग्रेज़ की ही भांति सीखनी होगी और इसी में तमाम उद्देश्यों की सार्थकता है।

4. स्पीकिंग टेस्ट (Speaking Test for IELTS Exam)

स्पीकिंग टेस्ट में आमने - सामने इंटरव्यू लिया जाता है। 
इस दौरान आपके परिवार, आपकी स्टडी, आपके बैकग्राउंड के बारे में ज्यादा सवाल किये जाते हैं। इस एग्जाम में भी आपको कुछ टॉपिक दिए जाते हैं, जिसके ऊपर आपको बोलना होता है।



स्पीकिंग टेस्ट की तैयारी में आपको यह ध्यान देना चाहिए कि यह टॉपिक के नॉलेज के बारे में आप की परीक्षा नहीं है, बल्कि यह एग्जाम आपके इंग्लिश बोलने के बारे में है। अतः दिए गए टॉपिक के बारे में अधिक सोचने की बजाय अपने बोलने पर ज्यादा ध्यान दें।

और हाँ! इसका यह मतलब कतई नहीं है कि टॉपिक के नॉलेज को आप पूरी तरह इग्नोर ही कर दें, बल्कि उसकी जानकारी भी उतनी ही महत्वपूर्ण है।

How To Clear IELTS Exam (Pic: Team Article Pedia))


कहां से करें तैयारी?
Preparation for IELTS Test

देश भर में IELTS (आईईएलटीएस) परीक्षा की तैयारी अलग-अलग सेंटरों पर कराई जाती है। 
इसके लिए आप किसी भी नजदीकी आईईएलटीएस इंस्टिट्यूट (IELTS Institute for preparation) में जाकर आसानी से इसकी ट्रेनिंग पा सकते हैं। 

वैसे सच कहा जाए तो किताबों के सहारे आसानी से घर से भी इसकी तैयारी की जा सकती है, और इंस्टिट्यूट जाने के बाद भी आपको स्वयं प्रैक्टिस के लिए अच्छा खासा समय देना पड़ेगा। 

इस कड़ी में अगर फ़ीस की बात करें तो आईईएलटीएस के लिए तकरीबन 13 - 14 हजार रूपये के आसपास फ़ीस लगती है।

कैसे करें आवेदन? 
How to apply for IELTS?

आईईएलटीएस के लिए आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं, जिसके लिए आपको   www.ieltsidpindia.com पर लॉग इन करना होगा। 


इसके अतिरिक्त आप कुरियर अथवा पोस्ट के जरिये भी आवेदन कर सकते हैं। अप्लाई करने के साथ ही आपको इस परीक्षा से संबंधित तारीख एवं अपने शहर का चुनाव करना होगा। 
फिर क्या आपका विदेश में पढने या फिर नौकरी करने का सपना साकार होने की दिशा में एक कदम बढ़ जायेगा और यह यात्रा निश्चित रूप से सार्थक होगी, अगर आप पूरी तन्मयता और समर्पण से इस परीक्षा की तैयारी करते हैं तो!

आप क्या कहते हैं?

कमेन्ट-बॉक्स में आपकी प्रतिक्रिया हमारा उत्साहवर्धन करेगी!

Web Title: How To Clear IELTS Exam In Hindi Article

- Team Article Pedia



क्या आपको यह लेख पसंद आया ? अगर हां ! तो ऐसे ही यूनिक कंटेंट अपनी वेबसाइट / डिजिटल प्लेटफॉर्म हेतु तैयार करने के लिए हमसे संपर्क करें !

** See, which Industries we are covering for Premium Content Solutions!

Web Title: Premium Hindi Content on IELTS Test

Post a comment

0 Comments