गाड़ी चला रहे हैं तो न भूलें 'ये नियम'

अब वो जमाना दूर गया, जब कहीं जाने के लिए सड़कों पर घंटों बसों का इंतजार करना पड़ता था। अब के आधुनिक समय में हर किसी के पास वाहन उपलब्ध है, वह चाहे चार पहिया हो या फिर दोपहिया। हालांकि जैसे-जैसे लोगों के पास वाहनों की सुविधा बढ़ी है वैसे-वैसे सड़क दुर्घटनाओं की संख्या में भी बढ़ोतरी होती जा रही  है।

इसमें कोई शक नहीं है कि सभी को अपनी मंजिल तक जल्दी पहुंचने की चाहत होती है, लेकिन यह चाहत अपनी जिंदगी की कीमत पर तो पूरी नहीं की जा सकती है। अगर आप भी अपने निजी वाहन से सफर करते हैं तो इन बिंदुओं पर गौर जरूर करें।

Indian Roads Traffic (Pic: youthkiawaaz)

समझें ट्रैफिक रूल्स

जब भी आप ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अप्लाई करते हैं तो आपसे ड्राइविंग रूल्स के नियमों की जानकारी की परीक्षा ली जाती है और इस परीक्षा को पास करने के बाद भी बाद ही आपको ड्राइविंग लाइसेंस उपलब्ध कराया जाता है। बावजूद इसके रोड पर गाड़ी लेकर निकलते समय लोग ट्रैफिक संबंधी छोटे-छोटे रूल्स को फॉलो नहीं करते हैं।

अगर आप भी ऐसा करते हैं तो यह ना केवल आपके लिए खतरनाक है, बल्कि सामने वाले के लिए भी उतना ही खतरनाक है। इसीलिए जब भी गाड़ी चलाएं तो सही दिशा और सड़क किनारे लगे ट्रेफिक साइन बोर्ड्स पर ध्यान देते हुए गाड़ी चलाएं।

ओवरटेक से बचें 

रोड पर गाड़ी चलाते हुए जो सबसे कॉमन ट्रैफिक नियम तोड़ने की बात आती है तो वह है 'ओवरटेकिंग'। अक्सर हम सामने वाली गाड़ी से आगे निकलने की जल्दबाजी में गलत तरीके से ओवरटेक करने लगते हैं जो एक्सीडेंट का कारण बन सकता है।

हालाँकि ओवरटेक करना गलत बात नहीं है, लेकिन इसमें बहुत अधिक सावधानी रखने की जरूरत होती है। जब भी ओवरटेक करें तो दाहिनी तरफ से आगे बढ़ें और अगर आप हाईवे पर हैं तो ओवरटेक के लिए बनी लेन का ही प्रयोग करें।



इंडिकेटर का इस्तेमाल 

गाड़ी में दिए इंडिकेटर से आप अपने पीछे चल रही गाड़ियों को आसानी से बता सकते हैं कि आपको मुड़ना है। इस प्रकार आपके पीछे चल रही गाड़ियां अपने आप अपना स्पीड कम कर लेंगी और दुर्घटना से बचाव होगा। वहीं अगर आप किसी कारणवश इंडिकेटर का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं तो अपने हाथों से इशारा कर के सिग्नल जरूर दें कि आप मुड़ने वाले हैं।

स्पीड 

इसमें कोई शक नहीं है कि जब हम नहीं नई गाड़ी लेते हैं तब हमारे सर पर स्पीड का भूत सवार रहता है। लेकिन अपनी गाड़ी की स्पीड उतनी ही रखें जिस पर आप गाड़ी को कंट्रोल कर सके। सबसे अहम बात आप जिस रोड पर गाड़ी चला रहे हैं उस रोड की स्पीड लिमिट को अपने ध्यान में जरूर रखें।

अगर आप ध्यान देंगे तो पाएंगे कि सड़क के किनारे स्पीड लिमिट का बोर्ड लगा रहता है जो बताता है कि कहाँ किस स्पीड में गाड़ी चलाना है। इसीलिए जब भी आप रोड से गुजरें स्पीड लिमिट का ध्यान जरूर रखें।

हॉर्न का प्रयोग

आपके वाहन में हॉर्न इसलिए दिया गया है कि आप इसके प्रयोग से सामने वालों को सचेत कर सकें कि उनके पीछे गाड़ी है। लेकिन देखा गया है कि अक्सर लोग हॉर्न का प्रयोग वहां भी करते हैं जहां इसकी जरुरत नहीं होती है। ट्रैफिक में फंसे लोग बेहिसाब हॉर्न बजाते हैं जो कि बेहद गलत बात है। हालाँकि जब कोई मोड़ आने वाला हो या आप किसी गाड़ी को क्रॉस करने वाले हों तब हॉर्न का प्रयोग जरूर करना चाहिए।

पार्किंग के समय विशेष ध्यान 

गाड़ी पार्क करते समय आपको विशेष सावधानी रखने की जरूरत होती है। अगर पहले से गाड़ियां वहां खड़ी हैं  तो आप भी कोशिश करें कि उन्हीं गाड़ियों की लाइन में अपनी गाड़ी को पार्क करें। अगर आप इधर - उधर गाड़ी पार्क करते हैं तो इससे न केवल आप परेशान होंगे बल्कि दूसरे भी परेशान होंगे। ध्यान रहे कि पार्किंग के नियमों के पालन से सभी गाड़ियां आसानी से पार्किंग से बाहर निकल पाएंगी और किसी को परेशानी का भी सामना नहीं करना पड़ेगा।

यू-टर्न

अगर आपको कहीं मुड़ना हो तो अचानक से बीच रोड में से न मुड़ें। ऐसा करने से ना केवल आपको नुकसान हो सकता है बल्कि आपके पीछे चल रही गाड़ियों का भी एक्सीडेंट होने का खतरा रहता है। इसीलिए अगर आपको दूसरे ट्रैक पर जाना है तो ट्रैक बदलने के लिए बने मोड़ से ही यू-टर्न लेने की कोशिश करें, ना कि बीच रोड में से ही मुड़ने लगें।

इन बातों को ध्यान में रख कर आप सेफ ड्राइव कर सकते हैं।

क्या आपको यह लेख पसंद आया ? अगर हां ! तो ऐसे ही यूनिक कंटेंट अपनी वेबसाइट / डिजिटल प्लेटफॉर्म हेतु तैयार करने के लिए हमसे संपर्क करें !

** See, which Industries we are covering for Premium Content Solutions!


Web Title: Premium Hindi Content on.Traffic Rules, Indian Roads Traffic Article In Hindi 

WordPress.com

Post a comment

1 Comments