स्टार्टअप एवं 'इन्वेस्टमेंट' फैक्टर

न केवल भारत, बल्कि दुनिया भर में रोज स्टार्टअप खुलते हैं और परफॉर्म न करने की स्थिति में बंद हो जाते हैं। यूं भी बहुत कम लोग स्टार्टअप में सफलता की राह पर आगे बढ़ पाते हैं और यह एक कड़वा फैक्ट है।

हालाँकि इसके एक नहीं, बल्कि कई कारण होते हैं और उन्हीं कारणों में से एक सबसे बड़ा कारण होता है 'स्टार्टअप में इन्वेस्टमेंट' का। प्रतियोगिता के कड़े समय में बहुत कम लोग बगैर पैसा लगाए आगे बढ़ पाते हैं। आपका कांसेप्ट चाहे जितना बेहतर हो, किन्तु जब तक उस कांसेप्ट के हिसाब से पूँजी नहीं लगाई जाती है, तब तक उस कांसेप्ट में ग्रोथ मिलना कठिन हो जाता है।

Startup and Investment Factor (Pic: rbc...)

इसलिए तो एक स्टार्टअप करने वाला व्यक्ति इन्वेस्टर की तलाश में रहता है, किन्तु कई विकल्पों में से इन्वेस्टर बहुत सावधानी से इन्वेस्टमेंट की दिशा में बढ़ते हैं। प्रश्न उठता है कि कोई स्टार्टअप अपने लिए इन्वेस्टर कहाँ से और किस प्रकार ला सकता है?

आइये देखते हैं:

मजबूत प्लान 

अपने उद्यम के लिए अगर आपको इन्वेस्टमेंट चाहिए, तो  सर्वप्रथम आपको इसके लिए एक प्लान बनाना चाहिए। एक ऐसा प्लान जिसे देख कर पैसा लगाने वाले इन्वेस्टर की आँखों में चमक आ जाए और वह चमक देर तक कायम भी रहे। अगर आपके स्टार्टअप में इन्वेस्टर को दूरदृष्टि नज़र आ गयी तो आपका आधा काम हो गया समझिये!

फिजिबिलिटी

जब आपके प्लान में विजन शामिल होगा तो इन्वेस्टर उसकी फिजिबिलिटी चेक करेगा। मतलब जिस क्षेत्र में आप कार्य कर रहे हैं, उसमें सफल और फेल होने के कितने चांसेज हैं? उदाहरण दें तो अगर आपने टेक्नोलॉजी में स्टार्टअप किया है तो आप यह जानते होंगे कि इस सेक्टर में असफलता की दर काफी अधिक है। एक रिपोर्ट यह बतलाती है कि तकनीक में 75% स्टार्टअप असफल हो जाते हैं।
कल्पना कर सकते हैं कि ऐसे आंकड़ों को लेकर एंजेल इन्वेस्टर और वेंचर कैपिटलिस्ट आपसे फिजिबिलिटी के ऊपर प्रेजेंटेशन देखना चाहेंगे। अगर आप इसे लेकर उन्हें आश्वस्त कर पाते हैं तो आप अपने लक्ष्य के और भी करीब पहुँच जायेंगे।

रिटर्न

रिस्क चाहे अधिक हो, किन्तु उस पर रिटर्न ऑफ इन्वेस्टमेंट किस अनुपात में हो सकता है, इस पर इन्वेस्टर की नज़र सबसे तेज रहती है। अगर सफल होने के चांसेज कम हों, किन्तु ROI की उम्मीद अधिक हो तो कोई कारण नहीं है कि इन्वेस्टर आपके स्टार्टअप में अपनी रुचि बढ़ाएगा!
निश्चित रूप से इसके लिए आपको अपनी विल पावर के साथ बिजनेस प्रॉफिटेबिलिटी की क्लियर-ग्राउंड स्टडी को प्रेजेंटेशन में डालना होता है।

मसलन स्टार्टअप का मार्केटिंग प्लान, बजट और प्रोडक्शन की विस्तृत जानकारी, वैल्यूएशन इत्यादि बड़ी साफ़ होनी चाहिए। अगर इसके आधार पर आपका प्लान वास्तविक प्रतीत होता है तो एंजल लिस्ट (https://angel.co/) वेबसाइट पर आपका स्टार्टअप फंड रेज कर सकता है।
इस पोर्टल पर प्रोफाइल बनाइए एवं स्पेसिफिक डिस्क्रिप्शन, कंपनी-डिटेल, सर्विसेज इत्यादि लिस्ट करने के साथ फ्यूचर प्लान के बारे में बेहद साफ़-साफ़ बताएं।

एंजल लिस्ट के अतिरिक्त, क्राउडफंडिंग वेबसाइट्स से भी आपके वेंचर को फंड मिल सकता है। मसलन किकस्टार्टर, पीयरबैकर्स, फंडेबल और इंडिगोगो जैसी कई वेबसाइटें क्राउडफंडिंग का प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराती हैं। 

अगर यह चीजें काम न आएं तो आप अपने कॉमन कांटेक्ट के माध्यम से फण्ड रेज करने की कोशिश करें। जो आपको पहले से जानते हैं, उन्हें संभवतः आप की क्षमता का ज्यादा पता हो और इस आधार पर वह इन्वेस्ट करने के लिए शायद तैयार हो जाएँ!
क्या पता, कहाँ आपकी किस्मत खुलेगी और तत्पश्चात आप किस दिशा में तेजी से बढ़ सकेंगे।

वैसे आपको बता दें कि कई इनोवेटिव स्टार्टअप प्रोग्राम में बड़े अवार्ड होते हैं। आप वहां पर हिस्सा लेकर अपना लक आजमा सकते हैं। उदाहरण के लिए अमेज़न वेब सीरीज स्टार्टअप चैलेंज का नाम लिया जा सकता है, जिसमें $50000 इनाम के साथ $50000 का ही ईडब्ल्यूएस क्रेडिट प्रत्येक वर्ष दिए जाने का प्रावधान रहा है।
वैसे आप यह जानकर हैरान रहेंगे, किन्तु लिंक्डइन जैसी वेबसाइट प्रमुख रूप से इस कार्य में आपकी मदद कर सकती है। इसके अलावा फैक्टरिंग प्लैक्सो, स्टार्ट ऑफ़ नेशन आदि का नाम मुख्य रूप से गिनाया जा सकता है।

पर कहते हैं न कि सफलता की राह पर चलना हमेशा से ही कठिन रहा है और बात जब आपकी आईडिया पर पैसा लगाने की हो तो इन्वेस्टर बेहद फूंक-फूंक कर कदम रखते हैं। बस आप अपने विजन के साथ, हिम्मत के साथ कूद जाइये फण्ड जुटाने के प्रयास में और बहुत मुमकिन है कि आपके विजनरी स्टार्टअप को बड़ी जल्दी इतना फण्ड मिल जायेगा, जो आपके शुरूआती व्यापार को मजबूती देने में बड़ी भूमिका निभा सकता है!

इस सम्बन्ध में आप क्या कहते हैं, कमेंट-बॉक्स में अपने विचार अवश्य बताइये!

क्या आपको यह लेख पसंद आया ? अगर हां ! तो ऐसे ही यूनिक कंटेंट अपनी वेबसाइट / डिजिटल प्लेटफॉर्म हेतु तैयार करने के लिए हमसे संपर्क करें !

**See, which Industries we are covering for Premium Content Solutions!


Web Title: Startup and Investment, Career, Finance Article in Hindi

Post a comment

0 Comments