बच्चे की सेहत के लिए हानिकारक है 'नाख़ून चबाना', पर...

Nail Biting In Kids (Pic: lightworkers)

आपने अक्सर बच्चों को नाखून चबाते हुए देखा होगा। सिर्फ बच्चे ही क्यों... यह आदत कई बार बड़े लोगों के अंदर भी नज़र आ जाती है। यूं आपको लगता होगा कि यह एक नॉर्मल बात है, लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नाखून चबाना स्वास्थ्य के लिए खासा नुकसानदेह है और इससे आप बीमार तक पड़ सकते हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि नाखून चबाना एक पर्सनालिटी से संबंधित बीमारी है। अगर इस पर बचपन में ही नियंत्रण नहीं किया गया तो आगे चलकर आपके बच्चे की पर्सनालिटी बुरे तरीके से प्रभावित हो सकती है।

यहां हम आपको कुछ तरीके बताएंगे जिनसे आप आसानी से अपने बच्चे के अंदर से नाखून चबाने की आदत को छुड़ा सकते हैं।

सही समय पर नाखूनों को काटना

जी हां! अगर आपका बच्चा नाख़ून चबाता है तो मुख्य रूप से नाखूनों का बड़ा होना इसमें हम किरदार निभाता है। आप ध्यान देंगे तो पाएंगे कि अगर किसी के नाखून बड़े हों तो बरबस ही उसका ध्यान नाखूनों की तरफ जाता है।


कई बार बड़े लोग भी कुतर के नाखून छोटा कर देते हैं लेकिन बच्चों में ऐसा करने से उनको आदत हो जाती है। इसीलिए प्रत्येक हफ्ते में एक बार, निश्चित समय पर अपने बच्चे के नाखून को काटते रहें।

प्यार से समझाएं...

अगर आपका बच्चा लगातार नाखून को कुतरता रहता है तो उसे समझाएं कि नाखून के अंदर कितनी धूल मिट्टी और गंदगी भरी होती है। अगर वह ऐसा करेगा तो गंदगी उसके मुंह के अंदर जाएगी और वह बीमार पड़ जाएगा।
बार-बार समझाने से आपके बच्चे के अंदर जरूर इस बात का एहसास होगा और वो धीरे-धीरे नाख़ून चबाना बंद कर सकता है।

अपनाएं घरेलू नुस्खों को!

आपके लाख समझाने के बावजूद अगर आपका बच्चा नाख़ून चबाना बंद नहीं कर रहा है तो आप कुछ आयुर्वेदिक नुस्खों को अपनाएं। आप चाहें तो अपने बच्चे की उंगलियों पर लहसुन, करेला और नीम का तेल रगड़ दें। इससे फायदा यह होगा कि जब भी बच्चा मुंह में उंगली डालेगा इनकी कड़वाहट की वजह से वो उंगली को मुंह से बाहर निकाल देगा। इस तरह आप देखेंगे कि धीरे-धीरे वह मुंह में हाथ डालना कम करने लगेगा।

बच्चे के 'खानपान पर ध्यान'

आप उसकी भूख का भी ध्यान रखें!

जी हाँ! अगर आपका बच्चा भूखा है और उसे नियमित अंतराल पर कुछ खाने को नहीं मिल रहा है तो वह नाखून कुतरने की आदत सीख लेगा। इसीलिए थोड़े-थोड़े समय पर उसे कुछ ना कुछ खाने की चीजें देते रहें। खाने के चक्कर में नाख़ून की तरफ ध्यान कम जायेगा।

एंगेज रखें

कई बार ऐसा होता है कि बच्चा अकेलापन महसूस करता है और अकेलेपन के कारण वो नाख़ून चबाने लगता है। ऐसे में कोशिश करें कि आप अपने बच्चे को अकेला ना छोड़ें। उसे छोटे-मोटे खेलों में उलझा कर रखें। आप चाहें तो उसके लिए कई सारे पजल्स ला सकते हैं या ऐसी ही कोई दूसरी गतिविधि में उसके दिमाग को लगाया जा सकता है।

इन सभी बातों के अलावा एक माता-पिता होने के नाते आप बेहतर समझ सकते हैं अपने बच्चे की आदत के बारे में। बस जरुरत है तो थोड़े से धैर्य की और यह धैर्य तब तक रखना है, जब तक आप अपने बच्चे को इस गलत आदत से दूर नहीं कर देते!

आप क्या कहते हैं?
कमेन्ट-बॉक्स आपकी प्रतिक्रिया का इन्तजार कर रहा है!!

क्या आपको यह लेख पसंद आया ? अगर हां ! तो ऐसे ही यूनिक कंटेंट अपनी वेबसाइट / डिजिटल प्लेटफॉर्म हेतु तैयार करने के लिए हमसे संपर्क करें !

** See, which Industries we are covering for Premium Content Solutions!


Web Title: Nail Biting In Kids Article In Hindi


WordPress.com

Post a comment

0 Comments