मशरूम की खेती से कमाएं मोटा मुनाफा

Fixed Menu (yes/no)

मशरूम की खेती से कमाएं मोटा मुनाफा

आर्टिकल पीडिया ऐप इंस्टाल करें व 'काम का कंटेंट ' पढ़ें
https://play.google.com/store/apps/details?id=in.articlepedia

Mushroom Farming Business (Pic: gaonconnection)


आजकल मशरूम का चलन जोरों पर है। आप होटल -रेस्टोरेंट में जाएँ तो आपको मशरूम की कई डिशेज मेन्यू में जरूर दिख जाएंगी। इतना ही नहीं शादी ब्याह के अवसरों पर भी खाने में मशरूम का आइटम जरूर शामिल किया जा रहा है। आपको बता दें कि स्वाद के साथ ही मशरूम सेहत के लिए भी बहुत फ़दयेमंद होता है। वहीं आपने अक्सर आपने सुना होगा कि मशरूम की खेती करके करना आसान है और इसमें मुनाफा भी ज्यादा है। तो आईये हम आपको प्राथमिक तौर मशरूम की खेती के बारे में जानकारी देते हैं। 

अगर आप एक किसान हैं और आप खेती करके अधिक धन कमाना चाहते हैं तो मशरूम की खेती (Mushroom Farming Business)करना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। उत्तर प्रदेश हरियाणा राजस्थान जैसे राज्यों के किसान इसकी खेती बड़े पैमाने पर कर रहे हैं और अच्छा लाभ कमा रहे हैं । सिर्फ कुछ प्रदेश ही क्यों मशरूम की मांग पूरे विश्व में है और लोग इसे कई तरह के खाद्य पदार्थों के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं 

मशरुम ( Masrum )क्या है 

मशरूम की किस्मों के बारे में बात करें तो अंतराष्ट्रीय वैज्ञानिकों का कहना है कि मशरूम की लगभग 10 ,000 किस्में धरती पर मौजूद हैं। हालाँकि सभी मशरूम का चलन नहीं है और  व्यापार के नजरिये से मशरूम की लगभग 5 किस्में ही ज्यादा प्रचलन में हैं। इनके नाम  हैं  बटन मशरूम( Batan Masrum), पैडी स्ट्रॉ, स्पेशली मशरूम, दवाओं वाली मशरूम, धिंगरी या ओएस्टर मशरूम ( Oyester Mushroom) हैं। वहीं इन पांचो में से भी बटन मशरूम सबसे ज्यादा पसंद की जाती है, आपको बाजार में भी बटन मशरूम ही ज्यादा देखने को मिलेगी। कहीं -कहीं बटन मशरूम (Batan Masrum)को मिल्की मशरूम भी कहा जाता है। 

कैसे करें मशरूम की खेती 

मशरूम की खेती करना आसान है लेकिन इसकी तैयारी के कुछ चरण हैं। आईये  जानते  इसके बारे में 

कंपोस्ट खाद बनाना

मशरूम को बोन से पहले इसके लिए कम्पोस्ट खाद बनाया जाता है। जैसे हमें जीने के लिए भोजन की आवश्यकता होती है वैसे ही पौधों के लिए खाद की आवश्यकता होती है।  मशरूम की खेती( Mushroom Farming Business ) में इस्तेमाल होने वाले कंपोस्ट खाद को कुछ अलग तरह से तैयार किया जाता है। कंपोस्ट खाद बनाने के लिए धान व गेहूं के भूसे का इस्तेमाल किया जाता है। (यह विधि काफी लम्बी है और इसकी पूरी जानकारी अन्य पोस्ट में देंगे) 

Mushroom Farming Business (Pic: specialtyproduce )


मशरूम की बुआई करना

जब आप कंपोस्ट खाद तैयार कर लें तो उसे आप प्लास्टिक में भरकर उसमें परतों के हिसाब से बुवाई करें ध्यान दें कि जिस प्लास्टिक में आप मशरूम( Oyester Mushroom) के बीजों की बुवाई कर रहे हैं उस प्लास्टिक में छोटे-छोटे छेद हो जिससे प्लास्टिक के बैग में बचा हुआ पानी निकल जाए और आप पॉलिथीन को कसकर बांध दें ताकि उसमें हवा जाने की गुंजाइश ना रहे।

हवा व पंखे की मदद से रखरखाव

आपको फसल को 15 दिन तक हवा लगने से बचाना पड़ता है इसके लिए आप कमरे को पूरी तरह से बंद कर दें जिससे उसमें हवा ना जा सके। 15 दिन बाद आप कमरे को छू खुला छोड़ दें तथा हवा के लिए पंखे का इंतजाम कर दे।

कब करें कटाई

मशरूम की फसल अधिक से अधिक 30 से 40 दिनों में काटने योग्य हो जाती है इसके लिए आप आराम से अपने हाथों की मदद से मशरूम को तोड़ सकते हैं।

मशरूम की खेती के सन्दर्भ में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें।


-टीम आर्टिकल पीडिया 




अस्वीकरण (Disclaimer): लेखों / विचारों के लिए लेखक स्वयं उत्तरदायी है. Article Pedia अपनी ओर से बेस्ट एडिटोरियल गाइडलाइन्स का पालन करता है. इसके बेहतरी के लिए आपके सुझावों का स्वागत है. हमें 99900 89080 पर अपने सुझाव व्हाट्सअप कर सकते हैं.
क्या आपको यह लेख पसंद आया ? अगर हां ! तो ऐसे ही यूनिक कंटेंट अपनी वेबसाइट / ऐप या दूसरे प्लेटफॉर्म हेतु तैयार करने के लिए हमसे संपर्क करें !
** See, which Industries we are covering for Premium Content Solutions!

Web Title: Premium Hindi Content on...Mushroom Farming Business In Hindi






Post a comment

0 Comments